आपकी बात

परम आदरणीय ,आप सभी को संतोष गंगेले का नमस्कार। कृपा आपका हिंदी न्यूज बेब साईट को देखा , भारतीय संस्कृति का भंडार मिला। आप सभी टीम को बधाई। संतोष गंगेले प्रदेश अध्यक्ष -गणेश शंकर विधार्थी प्रेस क्लब मध्य प्रदेश
संतोष गंगेले
मुझे उषा प्रियंवदा जी की ईमेल आई.डी अगर दे पाएंगे तो बड़ी मेहरबानी होगी . मैं un पर शोध कर रही हु . हमारे यहाँ बहुत ही मुश्किल है कुछ भी जानकारी मिलना .
रेबोम बेलो, अरुणाच
आल फॉन्ट कनवटर कि जरुरत है कहाः से मिल पायेगा
निलेश सोनी
हिंदी हमारी पहचान है, हिंदी हम को हमारा सवभिमान जगती hai
दुर्गाशंकर rawat
सुंदर प्रयास
हार्दिक शुभकामनाएँ।
बलदाऊ गोस्वामी
लोटस आर्गेनाईजेशन टीम द्वारा आपके सार्थक प्रयास का अभिनन्दन और शुभकामना तथा हिंदी के विकास और प्रगति के लिए प्रशंसा
आशुतोष राय
यह प्रयास सराहनीय है,जितनी तारीफ की जाय कम है.
डॉ. स.स यादव.
महाशय मैं अपने कुछ लेखों को आपके पत्रिका मे छपवाना चाहता हूँ मुझे क्या करना होगा कृपया बताएं
धन्यवाद
डॉ. मो. माजिद मिया
theatre rangmanch k bare mn likha kro
rajesh.actor
आज के समाज में जिस तरह से हिंदी भाषा को नाकारा जा रहा है,उसको ध्यान में रखते हुए आपका यह प्रयास सराहनीय व् सम्मानीय है ,,हम आपके इस प्रयास का तहे दिल से सम्मान करते है...
अंजना जैन
आपका यह प्रयास महत्‍वपूर्ण व अत्‍यन्‍त प्रशंसनीय हैं नमस्ते
Satyanarayan Rao
प्रशासनिक कामकाज जो अंग्रेजी में होते हैं उसे हिंदी में अनुवाद करने के लिए अर्थात मानक एवं सरल अनुवाद के लिए सटीक साफ्टवेयर का विकास हुआ है ।
विक्रम सिंह
मेरा नाम संजय हे और मुझे यह जानकर बहुत ही ख़ुशी हो रही हे की अब शायद हिंदी को अपनी पहचान मिले .वर्ना अंग्रेजी के चकर में तो सब लोग हिंदी को भूल ही गए थे .मेरी शुभकामना आपके साथ है.
संजय कुमार गिरि
संजय कुमार गिरि
इंग्लिश में हिंदी लिखना आता है आपने इस सॉफ्टवेर को इस तरह बनाया की हम अपनी बात अपनी भाषा में कर सके इस तरह की वेबसाइट डेवेलोप करने के लिए बहुत - बहुत बधाई और शुभकामना . जय हिन्द !
आनंद निगम
Kirpa karke phele ye batayen ki english ko hindi me translate karne ka sofware kahan milga aur kis naam se hai.
Ankit bhardwaj
आपने हिंदी भाषा के लिए जो समर्पण किया है उसकी जितनी भी प्रशंशा की जाये कम है ,--शुभ कामनाओ सहित
मुकेश गोदरे
mai ne vidhi pe blog likhana shuru kiya hai.aaj hindi me web saite bhi kam hai.or blog bhi n ke bara bar hai. jo kanooni saksharata se judana chahe un ke liye upyogi blog hai. padhiye prahladvyas.blogspot.com or janiye kanoon pe aadharit samyik lekh v tippaniya. mera lekh wikipidia hindi.com ke vidhi shirshak me bhi prakashit huaa hai
advocate prahlad vyas
क्या मैं अपने हिंदी साप्ताहिक समाचार पत्र में इस साईट के लेख छाप सकता हूँ ......
फैज़ शैख़
मै remington शैली मैं हिंदी में डायरेक्ट लिखना चाहता हूँ कैसे लिखू bataye
राजेंदर dutt
आपका यह प्रयास महत्‍वपूर्ण व अत्‍यन्‍त प्रशंसनीय हैं

एस आर हरनोट
एस आर हरनोट
मैं हिंदी होम पेज से जुड़ना चाहती हूँ | मैंने हिंदी मैं ६ पुस्तकें लिखी हैं ,हिंदी के लिए पूरी तरह समर्पित हूँ कृपया अवसर प्रदान करें |
मीना गोदरे
महोदय
मैं भी हिंदी में एक माशिक पत्रिका शुरू कर रहा हूँ
सुभाष चन्द्र nautiyal
मैं हिंदी के राष्ट्रीय सहारा समाचार पत्र में कार्यरत हूँ, हमारे समाचार पत्र में "RS Sahara" फॉण्ट का प्रयोग किया जाता है, क्या कोई इसे यूनीकोड में और यूनीकोड से इसमें परिवर्तित करने को फॉण्ट कन्वर्टर बना या सुझा सकता है...
नवीन जोशी
aap Computer ke duara bahut se logo ko nishulk computer knowkadge de rhe he . Samaj me kuch virle hi hote he . Jo samaj ke liye apne aap ko samarpit karte he. Mayankbhai mujhe aap se choti si help chahiye thi. Mai cyber Café shop kholna chahta hu. Mai janana chahta hu ek internet bandwith cable ke jariye kaise 6 computer ko aapas me joda jata he. Mana ki mere pas 6 computer he unke naam is prakar he.
Rahultechnology11
Rahultechnology12
Rahultechnology13
Rahultechnology14
Rahultechnology15
Rahultechnology16
Puri jankari vistar se dijiyega jisse mai samajh saku. Iske liye aapka bahut bahut aabhari rahunga.
Rahul Mishra

राहुल मिश्र
Please mujhse bhi Hindi ko jode taki mai iske bare me vistaar kar saku
Ankit bhardwaj
मैं आपके हिंदी होम पेज से जुड़ना चाहती हूँ . काफी समय से मैं पत्रकारिता से जुडी हुई हूँ . यहाँ पर हिंदी को सम्मान जनक श्रेणी मैं रखकर उसकी गरिमा को कायम किये हुए हैं. कृपया करपिया मुझे भी इससे जुड़ने का अवसर प्रदान करें.
tanisha
हिन्दी है हमारी राष्ट्र भाषा हिंदी एक भाषा ही नहीं हमारा परिचय भी है और हम यदि अपनी भाषा का ज्यादा प्रयोग करेंगे तो वह हमारे लिए और हमारी संस्कृति के लिए लाभदायक होगा ...........
प्रभु सिंह
hindi home page se jude mughe kk lamba arsa ho gaya. bahoot se information mile iske liye hindi home page team ka abhinandan.
नेहा कल्याणी
महोदय श्री,
मै फरवरी 2013 की हंस पत्रिका खरीदना चाहता हूँ,जो पत्रिका राजेन्द्र यादव द्वारा संपादित की गई हैं। जिसमे हिन्दी सिनेमा का सो वर्ष का इतिहास बताया गया हैं । मै यह पत्रिका कैसे खरीद सकु वोह जानकारी देनेकी कृपा करे।
धन्यवाद
आपका शुभ चिंतक
जयेन्द्रसिंह राणा
जयेन्द्रसिंह राणा
महोदय!
.
.
मैँ बीएड,एमए(हिन्दी) हूँ .हिन्दी की सेवा के लिए जग मेँ कहीँ भी जा सकता हूँ .
.
.
अशोक कुमार वर्मा 'ब
दिलों में कहीं गमों की झीलें ना बन जाए,
चलो दूर किसी हँसते चेहरे को देखा जाए,
इसी हँसते चेहरे से गमों की झीलों को पाटा जाए।।68
कामदेव शर्मा
कामदेव sharma
नेट पर "हिंदी होमपेज" का स्वरुप सुन्दर और ज्ञानवर्धक है। गागर में सागर के समान है। मेरी कोशिश है कि मैं भी नियमित योगदान करूँ, पूर्व में विकिपीडिया के लिए अल्प योगदान दिया है। इस वर्ष अपनी एक योजना आपसे साझा करूँगा। धन्यवाद !
सुलभ जायसवाल
मै आपकी और से परकाशित होती पत्रिकाओ के बारे मे जानकारी चाहता हू और साथ ही अगर यह मासिक पत्रिका है मे इसे अगर लगवाना चाहू तोह मुजहे क्या करना होगा
vipan kumar
हिंदी हमारा जीवन है | बिना हिंदी के हम कुछ भी नहीं क्योंकि हिंदी में हम जीवन के सुख दुःख घटना दुर्घटना के भावो को भली भांति प्रस्तुत कर सकते है |
छोटू भारती
हिंदी होमपेज देखकर
, बहुत प्रसन्नता हुई। शुभकामनाएँ..!
सुरजीत सिंह
हिंदी के लिए मेरा पूरा जीवन समर्पित है मैंने हिंदी कविता ,कहानी ,ग.ज.ल औरनिबन्ध संग्रह के रूप में आठ किताबें लिखी हैं जिनके प्रकाशन में आपका मार्गदर्शन चाहती हूँ धन्यवाद
मीना गोदरे
में कर्नाटक में रहता हूँ . मैंने हिंदी ब्लॉग एक साल पहले खोला. ब्लॉग का पता - napshindi /blogspot .com है. सबसे निवेदन है कि इसे एक बार देखे और हिंदीतर जगह में रहकर जो कम हिंदी में कर रहा हूँ , प्रोत्साहन मिलेगा.
प्रोफ.अ.नारायण प्र
हिंदी होमपेज देखा, बहुत प्रसन्नता हुई। मेरी बधाई और शुभकामनाएँ..!
lqjs”k pUnz ipkSjh
मैं एक नया श्रोता हूँ कृपया अधिक जानकारी भेजे
त्रिलोक प. chhajer
nagrik adhikar ka dastavez aaj bhi matribhasa me uplabd nhi hai.fir bhi likha hai.kanoon ki jankari n hona bachav ka aadhar nhi.to kanoon ki jankari vale matribasa me n dena jankari dene se enkar nhi hai?
prahlad rai vyas advocate
Your site is very-very good for hindi knowing persons.
Praveen
मुझे hindi अच्छी लगती है .परन्तु मुझे आपकी मदद चाहिए .
नेहा कुमारी
हिन्दी है हमारी राष्ट्र भाषा
करे ंउसका सम्मान हम
ये वो कड़ी है जो जोड़ती है दिलो को
समा लिया है इसने सब भाषाओं को अपने ह्रदय में
ना किसी से बैर ये रखती
बह रही है नदी की तरह
सागर में समा जाने को
हमें गर्व है इस भाषा पर
जो राज सिंहासन पर विराजमान है
अपने पैर फैलाए ।
आभा दवे
hamari foot hi loot ke liye jimmedar hai.aaj hindi me ya mtribhasa me neta vote to nangte hai.parntu apane videshi aakao ko khush karane ke liye angrezi me vktvya dete hai.aaj bhi nyaypalika me hindi apana sthan nhi bana paee eska karan hamara hindi lo lagu karane me samarpit bhav ki kami hi hai.ek taraf to hum uno me hindi ko sthapit karane ki bar karate hai.dusari or apane desh me hi astitv ko khatara hai.
prahlad rai vyas advocate
हिंदी एक भाषा ही नहीं हमारा परिचय भी है और हम यदि अपनी भाषा का ज्यादा प्रयोग करेंगे तो वह हमारे लिए और हमारी संस्कृति के लिए लाभदायक होगा ...........
सचिन ममगाईं
हिंदी होम पेज एक ऐसी कड़ी है जो हिंदी तथा हिंदी से संभंधित जानकारियों का भंडार है| हिंदी ही एक ऐसी भाषा है जो सम्पूर्ण भारत को एक ही शुत्र मैं बांधती है| आप के इस कड़ी के माध्यमसे लोग अपने अपने प्रान्तों तथा क्षेत्रों के हिंदी की स्थिति हिंदी प्रेमियों के समक्ष प्रस्तुत कर सकते हैं|
राधाकंता शर्मा
सम्बंधित सराहनीय प्रयास के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद, ओर बधाइयाँ .....
प्रो.उर्मिला
आपकी पत्रिका देखकर हर्ष हुआ ,मन प्रफुल्लित हुआ और बहुत सारी प्रेरणा भी मिली | हम लोग कनाडा से हिंदी चेतना नामक पत्रिका लगभग १४ वर्षों से प्रकाशित कर रहे हैं | हम सब एक डाल के पक्षी हैं | हमारी पत्रिका आप ओंन लाइन पर भी देख सकते हैं . व्व्व.विभोम.कॉम/हिन्दिचेतना.html
श्याम त्रिपाठी
सम्पादक महोदय नमस्कार
मैंने इससे पहले भी दो बार अपना सन्देश दर्ज किया है कि मैं अपने खाते में प्रवेश करने में असमर्थ हूँ फिर भी मुझे कोई सहायता नहीं मिल रही है , मैंने दो-तीन बार पासवर्ड माँगा है और मेरे इमेल पर पासवर्ड आता भी है किन्तु फिर भी लोगिन नहीं हो रहा है ......... क्या मैं इसे आज तक जो सुनाता आ रहा था वैसी "हिंदी कि राजनीती" समझ सकता हूँ
नितीन मंडलिक
व्.good
varsha
भारत की संसद में हिन्दी भाषा के प्रयोग के लिये संविधान लागू होने के पश्चात 62 वर्ष में अबतक कोई सार्थक प्रयास नही किये गये। संविधान में केवल राजभाषा का दर्जा दे देने से भाषा का प्रसार नहीं हो सकता। वैज्ञानिक शोध व अनुसंधान एवं उच्चतम न्यायालय की भाषा जबतक हिन्दी को भारत मे न्याय मिल ही नही सकता।
श्याम बनवारी
भारत की संसद में हिन्दी भाषा के प्रयोग के लिये संविधान लागू होने के पश्चात 62 वर्ष में अबतक कोई सार्थक प्रयास नही किये गये। संविधान में केवल राजभाषा का दर्जा दे देने से भाषा का प्रसार नहीं हो सकता। वैज्ञानिक शोध व अनुसंधान एवं उच्चतम न्यायालय की भाषा जबतक हिन्दी को भारत मे न्याय मिल ही नही सकता।
श्याम बनवारी
सु कुमार जी आप से निवेदन है कि जब आप हिंदी होम पेज को देखते है तो कई बार वह अंग्रेजी में दिखाई देती है तब आप अपनी स्क्रीन पर देखे आपको शो ओरिजनल मेसेज दिखयी देगा उस पर क्लिक करे | और हिंदी होम पेज के सम्पादकों से मेरा पुनः निवेदन है कि मेरे पास वर्ड सम्बन्धी मुझे सहायता करें मै अपने खाते में प्रवेश करने में असमर्थ हूँ |
नितीन मंडलिक
मुझे हिन्दी अच्छी लगती है
priti
मै हिंदी होम पेज का सक्रिय सदस्य हूँ किन्तु पिछले कुछ दिनों से अपने खाते में प्रवेश करने में मुझे परशानी हो रही है अर्थात मै लोग इन करने में असमर्थ हूँ , इसके लिए मैंने अपने खाते का पासवर्ड भी ऑनलाइन प्राप्त किया फिर भी मै लोगइन नहीं कर प् रहा हूँ कृपया सहायता करें
नितीन गोरखराव मंडल
आप हिंदी के प्रसार के लिए सराहनीय कार्य कर रहे हैं. आज १४ सितंबर को भारत में हिंदी दिवस मनाया जाता है, परन्तु आपकी वेबसाइट पर इस बारे में कोई सामग्री न देखकर आश्चर्य व निराशा हुई.
सुमंत विद्वांस
ऊपर दिख रही दोनों टिप्पणियां बहुत अच्छी हैं ,मगर हैं अंगरेजी में ।ऐसे ही होगा विकास, हिंदी का ।
सु कुमार पटेल
हिंदी होमपेज देखा, बहुत प्रसन्नता हुई। मेरी बधाई और शुभकामनाएँ..!
SUBODH SRIVASTAVA
desh me shiksha prathamik star tak anivarya matribhasa me hi honi chahiye.desh me sampk bhasa rojgar ki bhasa abhivykti ki bhasa hindi ya matribhsa hi hona chahiye.sarkari kamkaz ki bhsa bhi hindi ya matribhasa ho.prashan nyaypalika midia vyapar udhyog seva xetra utpadan vigyan takniki pradhyogiki ki bhasa bhi hindi ko banao to hi svaraj kayam hoga.
advocate prahlad rai vyas
namaste sir/mam
hindi home page ke bare me vaisvik avasar ki jankari bahut badi bat hai.
bahot-bahot dhanyavad sir.
aapaki aabhari

dr. kapila patel
mai apako dhanwad deta hoo jo eataee janakari diya
{mujhe software ke bare mai janan hai?}
मनोज pal
नमस्कार हम आपके साथ जुड़ना चाहते हैं.
मधु gupta
हिंदी आज विश्वभाषा बनती जा रही हे . इसमें सभी का सहयोग अपेक्षित हे. केवल हिंदी प्रेम से बात नहीं बनेगी. हिंदी के लिए कुछ कर गुजरने की आवश्यकता हें. आपका प्रयास सार्थक सिद्ध होगा.
डॉ. राजेश्वर उनिया
अचानक आज मुझे वो मिला जिसकी मुझे तलाश थी. ऐसी साईट जिस पर हिंदी से सम्बंधित ढेरों सूचनाये/ सामग्री उपलब्ध हैं , सराहनीय प्रयास के लिए बधाइयाँ .....कृपया कविता संग्रह प्रकाशित करवाने के लिए आवश्यक जानकारी दें
डॉ एम एल गुप्ता
mai vidhi sahitya ko hindi bhasa me likhana chahta hoo.desh ke pratyek vyakti ke liye kanoon jajana jaruri hai.pantu kanoon unki bhsa me un tak nhi pahuch raha hai.aaj uchchtam nyayalay me karyavahi keval engish me hi hati hai.ye desh ke nagriko ka durbhgya hai.vote to neta hndi me ya xetyiya bhsa me mangte hai.parntu sansad v vidhan sabhao me ja ke ye apana rob galib karne ya bada dikhane ke liye english me bhasan dete hai.aaj sab se jyada hindi ki hindi nyaypalika me hi ho ra hai.me hindi nyay dilaunga.
prahad rai vyas advocte
मैं कई किताब लिख चुकी हूँ पर कोई उचित माध्यम नही मिल पाया है. आप से निवेदन करना है की मैं अपनी कितावें कैसे आप तक पहुंचाऊ अभी मई काफी मुश्किल में हूँ मेरे बेटा का किडनी ट्रांसप्लांट की तयारी चल रही है ,क्या आप मेरी मदत कर सकते हैं मेरे साहित्य को खरीद कर .आप की बहुत रिनी रहूंगी,,आप की अपनी
सिद्धि

सरस्वती खंडूरी ,
सरस्वती खंडूरी
महोदय ,
मेरे नाम राजेश भंडारी "बाबु" हे | मैंने यूनिस्को पे लेख लिखा हे | में और भी लेख लिखना चाहता हु पर हिंदी होम पेज पर कैसे डालना हे उसका तरीका बताने का कष्टट करे | धन्यवाद
राजेश भंडारी "बाबु"
आप जिस तरह हिन्दी को नेट के माध्यम से आगे बढा रहे है उसके लिये आप प्रशंसा के हकदार हैं. मेरी शुभकामना आपके साथ है. मैं हिन्दी होम पेज में कैसे योगदान दे सकता हूँ.. कृपया मेरा मार्गदर्शन करे..
साजन वर्मा "संजय"
स्वयं एक बुन्देली भाषी होकर मैं ह्रिदय से इस आलेख की प्रशंसा करता हूं । कुछ लोग सचमुच ही स्वार्थ केन्द्रित हो हिन्दी को कमजोर कर रहे हैं- ऐसे वक्त जब वह स्वयं चुनौतीग्रस्त है!
प्रभुदयाल मिश्र
मान्यवर /बंधुवर
मैं अपने में समाहित हिंदी सेवी भावों के अंतर्गत एक बिना मूल्य की साहित्यिक पत्रिका गत २६ वर्षों से प्रकाशित कर रहा हूँ, कृपया पता और मोबाइल नंबर देने की कृपा करें.जिससे अपनी पत्रिका भेज सकूं. आपके हिंदी होम पेज में अपनी रचनाएँ आदि भेजने के लिए क्या करू, विस्तृत जानकारी देकर प्रोत्साहित करने की कृपा करें. , धन्यवाद. प्रतीक्षारत आपका ---
राजेंद्र कृष्ण श्रीवास्तव, हिंदी सेवी साहित्यकार, संपादक -- साहित्य प्रोत्साहन, सी --६/४८ साहित्य प्रोत्साहन नगर, लखनऊ -२२६०१७, --{मोबाइल नंबर } -- ८००५०३२५३२
राजेंद्र कृष्ण श्र
सुबोध्जी,जय जगन्नाथ! मेरे पास एक लेख है -भारत का पहला गाँधी मंदिर ओडिशा में कृपया इसे अपने वेबसाइट पर दीजिये
अशोक पाण्डेय
बहुत बहुत धन्यवाद् जो वह रहकर भी अपने अपनी राष्ट्र भाषा को जीवंत करने की पहल की है , में आपकी इस पहल का ह्रदय से स्वागत और प्रसंसा करता हूँ .
और कुछ दार्शनिक , क्रांति श्रोत्र , धार्मिक पुस्तकों पर में भी काम करना चाहता हु .
आप मुझे इसके बारे में विस्तृत रूप में समझाने का कष्ट करे .
आपका
कौस्तुभानंद जोशी
कौस्तुभा नन्द जोशी
सुन्दर प्रयास है
सूर्यकान्त नागर(सू
हिंदीहोमपेज.कॉम की सृजक टीम एवं टीम के मुखिया को शत् शत् नमन कि आपने एक बेहद उपयोगी वेबसाइट तैयार की है। सभी हिंदीप्रेमियों को ऐसी ही एक महत्‍वपूर्ण एवं उपयोगी वेबसाइट की आवश्‍यकता थी। इस साइट पर अद्यतन वैश्विक हिंदी सूचनाएं उपलब्‍ध करवाई जाती है जोकि अत्‍यंत महत्‍वपूर्ण है।
सुनील भुटानी
आपका प्रयास सराहनीय है पुरे विस्वा क भारतियों को इसका अनुकरण करना चाहिए................ हम आपके सहयोग ke लिए तेयार है और जरुरत पड़े तो अमेरिका भी आ सकते है ..................
अरुणेश तंवर
सुन्दर प्रयास
प्रतिबिम्ब बडथ्वा
बहुत ही अछा प्रयास,मेरी तरफ से ढेरों शुब कामनाएं ............:)
गीता
बहुत अच्छा प्रयास है,बधाई और शुभकामनाएं
सुर सेवक प्रसाद गु
हमें पहले होम पेज की जानकारी नहीं hui
TEJRAJ KOTHARI
आप जैसे सपूत पाकर हिन्दी धन्य हो गयी।
Prem Bahadur
हम आप के साथ है
पवन कुमार bhoot
सुबोध्जी,जय जगन्नाथ!
आपसे मिलकर बहुत ख़ुशी का अनुभव हुआ.आपको महाप्रभु और ऊपर ले जाएँ . अबसे हमलोग मिलकर काम करेंगे .
अशोक कुमार पाण्डेय
सुबोध जी के इस अभिनव प्रयास की सराहना किय बिना नही रहा जा सकता,हिन्दी के प्रसार में उनकी ये भूमिका सारी दुनिया में रेखांकित की जायेगी ,ऐसा मेरा विश्वास है ।
गिरीश वर्मा
आपका यह पराक्रम अति सराहनीय है किन्तु आप भाषा और अधिक शुद्ध बनानेका प्रयास करें | एक उदहारण - "(मन्नाडे) का गहरा रिश्ता " यदि "गूढ़ सम्बन्ध " बने तो और मीठा लगे | मैं आपको बधाई देता हूँ एवं आपकी सफलता हेतु मंगल कामना करता हूँ |
कीर्ति जोशी
ये एक बहुत ही शानदार पहल हैं , धन्यवाद
चिराग जोशी
आज तक हम बदनसीब रहे जो इससे दूर rhe
आर के विक्रमा शर्म
subhkamnayen
pooja
अभिनव बालमन पत्रिका को स्थान देने के लिये आपका आभार.
आप जिस तरह हिन्दी को नेट के माध्यम से आगे बढा रहे है उसके लिये आप प्रशंसा के हकदार हैं. शुभकामनाओं के साथ........

अभिनव बालमन पत्रिका
अभिनव बालमन पत्रिक
सही समय पर एक जरूरी पहल. आपका प्रयास स्तुत्य है और इसमें मैं बड़ी संभावना देख रहा हूँ. मेरी बधाई और शुभकामनाएं..!
Sheodayal
नमस्ते,

आपकी साईट देखकर बहुत अच्छा लगा.
आप ले रहे कष्टों की मैं सराहना करता हूँ. साईट चकाचक है!
हम चेतना इन्टरनेट रेडियो चलाते हैं. यह एक रेडियो है जो लोग इन्टरनेट पर सुन सकते हैं.
इसका पता है: http://www.radiochetana.com/
जरूर देखिये

९९% कार्यक्रम हिंदी में ही हैं.
अगर आपको पसंद आये तो आपकी साईट पर देखना चाहता हूँ.

धन्यवाद,
सचिन
Chetana Internet Radio
आपको बहुत बहुत धन्यवाद, आपकी वेबसाइट हिंदी के वैश्विक विकास में मील का पत्थर साबित होगी, इसका प्रचार-प्रसार ज़ोरदार तरीके से करें.

मेरे लायक कोइस सेवा हो तो आदेश करें, मैं तैयार हूँ.

मैं इस वेबसाइट का संपादक हूँ : www.ahimsasangh.com

Regards,

CS Praveen Kumar Jain
Company Secretary
J V Gokal & Co. Pvt. Ltd,
2nd Floor, Kasturi Building,
171/172, Jamshedji Tata Road,
Near Akashwani, Mumbai - 400 020
Praveen Kumar Jain
प्रिय भाई,
हिंदीहोमपेज कल ही देखा। बहुत प्रसन्नता हुई। हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए आप बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। बधाई, धन्यवाद और शुभकामनाएँ।
इस पुण्य काम में हम आपके साथ हम निरंतर सहयोग करना चाहते हैं। महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा से आप अवगत होंगे। विश्वविद्यालय की ओर से एक वेबसाइट चलाया जा रहा है, जिसका नाम है हिंदीसमयडॉटकॉम (hindisamay.com) । इस वेबसाइट के बारे मे जरूरी सूचनाएँ नीचे दी जा रही हैं। निवेदन है कि इस समाचार को आप हिंदीहोमपेज पर प्रकाशित करने की कृपा करें।
Raj Kishore
Message from Hindi Home Page Website patra


सुन्दर-प्रेरक प्रयास. अभी तो यह शुरुआत है. भविष्य की महत्वपूर्ण साईट बनेगी यह. शुभकामनाये.
GIRISH PANKAJ
प्रिय सुबोध जी,
सप्रेम नमस्ते

आप हिंदी का जो नया पोर्टल विकसित कर रहे हैं, मुझे लगता है, वह अद्वितीय है। इस शुभ कार्य में मेरा आशिर्वाद आपके साथ है। यह पोर्टल मेरे और मेरे विद्यार्थियों के बहुत काम आ सकता है। आपने इस काम में जो उत्तरदायित्व संभाली है, वह कठिन और सराहणीय है। पर हिंदी प्रेमियों की सेवा में आप अग्रसर रहेंगे। इसका मुझे कोई संदेह नहीं।
हिंदी से संबंधित समाचार मैं आपको भेजा करूंगा।
Genady Shlomper, israel
जहां हमारे यहां अंग्रेजी का इतना बोलबाला है वहीं आप जैसे ’सनकी और हिन्दी के दीवाने’ झण्डा उठाकरचल पड़े हैं तो कुछ अच्छा ही होना तय है! मैं आपका प्रशंसक हूं.मुझे विस्वास है कि सभी का या अधिकांश हिन्दी प्रेमियों का आपको सहयोग मिलेगा।

शुभकामना सहित
सादर आपका
कार्टूनिस्ट चन्दर
बंधुवर -
आप का प्रयास सराहनीय है |
ईश्वर से प्रार्थना है की आप को सफलता प्रदान करे |
शुभ कामनाओं सहित .....................
श्री बी एन गोयल
"agar aap ke prayas/web site ke parinaam swarup Hindi kaa kuchh prachaar prasaar ho sake to Hindi jagat aap ke prati kritgya hoga - vaise hamare vichaar se ab Hindi Hinglish ho gayee hai - arthaat naa Hindi hai aur naa English hai - yah main nahi kah raha hun - aaj ke kisi bachche yaa yuva se poochhiye - vo yahi kahega "mujhe hindi nahi aati" - Ham se achhe to Mark Tully aur Rupert Snell jaise videshi log hain jo angrez hote hue bhi Hindi ke prati samprit hain - ve bina kisi mishran ke garv se hindi bolte aur likhte hain."
श्री बी एन गोयल

आपका सन्देश यहाँ लिखें

आप हमें सीधे ईमेल भी कर सकते हैं  mail@hindihomepage.com